Posts

Showing posts from November, 2013
दिल की इन राहों पर अकेले हम खड़े हैं, वो आ के जा चुकी है हम कुछ ना कर सके हैं.......
- always Tarun
दिल से तुझे चाहा बड़ी रेह्मतोन से पाया है,,

 आज तुझसे मिलने का वो एक दिन आया है ,

है कसूर क्या इस दिल का ये तो बता दे ,

वक़्त दिया तूने शाम बंदा सुबह से ही वक़्त पे आया है....
-always Tarun